Mother and baby quotes, real Story दुनिया में सभी माँ को प्यार अद्भुत है

Mother and baby quotes, real Story दुनिया में सभी माँ को प्यार अद्भुत है

प्यार दुनिया की सभी माताओं के लिए अद्भुत है

8 साल के बच्चे की मां की अचानक बीमारी से मौत हो गई।बच्चे की मां की मौत के कुछ समय बाद ही,उसके पिता ने दोबारा शादी कर ली।

 कुछ दिन  के बाद पिता और नई माँ खुशी से दिन बिताने लगे। 

वह सारी पुरानी यादें भूल गए। कुछ समय बीतने के बाद, बच्चे के पिता ने उससे पूछा कि तुम्हारी नई माँ और पुरानी माँ में क्या अंतर है। और सबसे  तुम्हारा नई मां की पुरानी मां अच्छा है।

जवाब में लड़के ने अपने पिता को बताया कि, मेरी नई माँ एक सच्ची औरत  हे,और पुरानी माँ झूठि थी लड़के की प्रतिक्रिया पर
पिता बहुत हैरान हुए और कहा कि आपकी माँ ने आपके  जन्म  दिया,  और पृथ्वी का चेहरा दिखाया
और कुछ दिनों में अपनी  पुरानी मां पर झूठा आरोप लगा दिया,और जो कुछ दिनों में आया वह सत्य हो गया

विषय कोई आश्चर्य नहीं है ?

वह लड़का अपना पिता की बात सुनने के बाद बोला। जब मैं पूरे दिन बहुत शरारती था और अपनी अच्छा चीजों का बर्बाद कर रहा था, तो मेरी माँ मुझे बोलती  थी। अगर आप ऐसी शरारतें करते रहेंगे, तो मैं आपका खाना-पीना बंद कर दूंगा ।
जब पूरा दिन मां से नहीं मिले  फिर वह मुझे पूरे गाँव में ढूंढती थी, मुझे ले जाकर , मेरे बगल में बईठा कर मुझे दुलार से और अपने हाथों से खाना खिलाती थी।

और मेरी नई माँ कहती है कि अगर तुम इस तरह की कोई शरारत करते हो, तो मैं खाना-पीना बंद कर दूंगी। और तुझे कोई खाना नहीं मिलेगा। वास्तव में आज  तीन दिनों तक मुझे कोई भोजन नहीं दिया है

अजोर रोने लगा और उसी समय अपने पिता को बताया कि मेरी झूठ बोलने वाली माँ मेरे लिए मेरी सच्ची माँ से बहुत बेहतर है। सच्ची माताएँ बहुत झूठ बोलती हैं, लेकिन यह झूठ कभी भी बच्चे के लिए नहीं होता है। हमारी माँ एक तरह से या किसी और तरह से एक चरम झूठ है, लेकिन यह झूठ सच्चाई से बहुत मजबूत है। इस झूठ को छिपाएं, दुनिया में सबसे निस्वार्थ प्रेम

अगर दुनिया में सभी प्यार को एक साथ लाया जाता है, तो मैं किसी भी तरह से अपनी मां के प्यार के करीब नहीं पहुंच पाऊंगा दुनिया में कोई भी अपनी मां की तरह मां नहीं बन सकती

Mother and baby quotes, real Story दुनिया में सभी माँ को प्यार अद्भुत है

जब माॅ संसार का पालन करने वाला कहलाते है, तब मुझे अपनी जीविका की कया चिन्ता है ‌। यदि मां संसार का  पालक- पोशाक नहीं होता तो या संसार जीवन नहीं रहता। बारम्बार ऐसा विचार कर हे प्रजापते । त्रिभुवन स्वामिन् । मैं आपको चरण कमलो की सेवा में सदा अपना समय व्यतीत करता हूं।



माता
राजा का पत्नी, गुरु की पत्नी और उसी प्रकार मिश्र के पत्नी, पत्नी के माता (सास) तथा अपनी जननी-  ये पाॅच
माता ए कहीं गई है।


माता के भिन्न रूप

जन्म देने वाली माता तथा संस्कार कराने वाली गुरु माता, जो विद्या प्रधान करता है अर्थात विद्या देने वाली मां ( अन्न देने वाली) और भाई से रक्षा करने वाली - यह पांच पितर माना गया है!

आपका स्वागत है www.lifebazar.in पेज पर आपको लाइफ स्टोरी कहानी अच्छी लगी तो प्लीज लाइक एंड शेयर शेयर करिए और अपने दोस्त फ्रेंड के पास ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ।  इसी तरह life story पढ़ना चाहते हैं तो कॉमेंट और ईमेल करें



टिप्पणी पोस्ट करें (0)
नया पेज पुराने